shashwat bol

kahte sunte baaton baaton me ...

80 Posts

75 comments

Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.
blogid : 19050 postid : 1125620

अटल प्रारम्भ , मोदी छलांग और सबल हिंदुस्तान , वैश्विक वरदान

  • SocialTwist Tell-a-Friend

अभी हाल ही में हिंदुस्तानी प्रधानमंत्री माननीय नरेंद्र मोदी ने ताजा आतंकवादी घटना की भूमि ब्रुसेल्स ( बेल्जियम ) का शीघ्र दौरा किया है . जहाँ उन्होंने आतंकवाद को सशक्त चुनौती देते हुए जोरदार प्रभाव बनाया .यूरोपीय संघ ने अपने सम्मलेन में समवेत रूप से प्रधानमंत्री श्री मोदी को आतंकवाद विरोधी वैश्विक संघष में सशक्त नेता माना . प्रधानमंत्री मोदी ने आतंकवाद को किसी भी धर्म विशेष से अलग बताया . यह आतंकवाद के प्रति हिंदुस्तानी नजरिए को स्पष्ट करने खातिर सफलतम प्रयास हुआ . ऐसे समय जब हिंदुस्तान आगे आ कर राष्ट्रिय व् अंतर्राष्ट्रीय मसलों पर अपने देश के साथ दुनिया के हिफाजत की दिशा में मोदी युग की सर्वश्रेष्ठ भूमिका के बूते अंतर्राष्ट्रीय संघ संरचना के सफलता की ओर अग्र्सर हो गया है तब महान व्यक्तित्व – वक्ता आदरणीय अटल बिहारी बाजपई का जनता पार्टी सरकार में विदेश मंत्री के रूप में वैश्विक भूमिका में किये गए बुनियादी एव स्वतंत्र हिंदुस्तानी पहल की चर्चा अवश्य करनी ही होगी . जिनके प्रयास की विशेष अटलता ने दिशा -दर्शन की चेतना का प्रारम्भ व् निर्देशन किया . इससे हीं भारत – भविष्य की आधारशिला निर्मित हुई है . जिसकी ही भूमि पर वर्तमान भारतीय नेतृत्वकर्ता नरेंद्र मोदी के रूप में सर्वोत्तम व् सबल नेता स्वयं कार्य करने को संलग्न है . इसी विदेश यात्रा में प्रधानमंत्री मोदी ने वाशिंगटन परमाणु सम्मलेन में भागीदारी की और अपनी गम्भीरता दिखाई . प्रधानमंत्री मोदी ने सरकारी तंत्र एवं परमाणु तस्करों के सांठगांठ पर अपनी विशेष गम्भीरता को व्यक्त किया . इस संज्ञान युक्त उल्लेख ने भारतीय नेतृत्व के आतंकवाद हेतु चिंतन के कारगर स्वरूप को रेखांकित किया . सहयोग की बड़ी भूमिका हेतु ओबामा – मोदी के तालमेल ने दुनिया को कुछ अचम्भा किया . वास्तव में जिसकी परिणति ही दुनिया में आतंकवाद , गरीबी , बीमारी , लाचारी से जंग और शक्ति संतुलन की उम्मीद है . इसके उपरांत सऊदी अरब के ऐतिहासिक सफल दौरे ने न केवल उनके वक्तव्यों को चरितार्थ किया है बल्कि अरब से दोस्ती सन्दर्भ में अन्य हिंदुस्तानी नेतावों को पीछे छोड़ जबरदस्त दोस्ताना सम्बन्ध एवं सम्मान कायम किया है . कहना तो यहां तक पड़ेगा की नरेंद्र मोदी ने अरब से सम्बन्ध क्षेत्र में स्वयं के प्रभाव से वैश्विक मानदंड निर्मित कर दिया है . इससे पूर्व के वैश्विक भागीदारी यात्रा क्रममे माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी रूस की अपनी यात्रा के बाद जिस सहजता से पाकिस्तान में दोस्ती की सम्भावना को धमाकेदार रूप देते हुए पहुंचे वह भी इतिहास में अंकित होने वाला कदम है. पूर्व प्रधानमंत्री आदरणीय अटल बिहारी बाजपाई ने जिन संभावनाओं को जग जाहिर करने में इस्लामाबाद यात्रा की फिर आगे लाहौर बस यात्रा प्रारम्भ किया था उस दिशा में अप्रतिम स्वरूप शैली की क्षमता का महान सबल नीति व् कार्योजना नरेंद्र मोदी की सिद्ध हुई है .सूत्र स्वरूप माननीय बाजपई जी ने छोटे से जनता पार्टी शासन काल एवं अपने नेतृत्व में पाकिस्तान के प्रति सद्भाव व् दोस्ताना रवैये की आधार निर्मित की जिसके लिए निर्माण की अपार सम्भावना और सार्थक योजना को पूरी निष्ठां , सामर्थ्य व् साहस के साथ वर्तमान प्रधानमंत्री श्रद्धेय श्री नरेंद्र मोदी पाकिस्तान एवं अन्य पड़ोसियों के साथ ही नहीं , उससे बेहद आगे बढ़ के स्वयं के प्रभावशाली स्वरूप से ऐतिहासिक व् कारगर वैश्विक नेटवर्क निर्माण हेतु नियामक रुपरेखा में अनवरत कटिबध्द हैं . ——- —- —— अमित शाश्वत

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

4 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

Shobha के द्वारा
April 8, 2016

श्री अमित जी बहुत अच्छा सोचने पर विवश करने वाला भारत की विदेश नीति के स्वरूप का वर्णन करता लेख

amitshashwat के द्वारा
April 10, 2016

aadarniy mahodya , aapki prtikriya se protsahan awashy milta hi hai . aapke anubhav me lekh se achha sangyan utpann hua jisse mujhe apna pryas sarthak mahsus ho saka hai . bahut dhanvaad , abhivadan sahit .

sadguruji के द्वारा
April 13, 2016

आदरणीय अमित शाश्वत जी ! सही बात है कि पीएम मोदी अपने प्रभावशाली व्यक्तित्व और कार्य के जरिये एक ऐतिहासिक व् कारगर वैश्विक नेटवर्क के निर्माण हेतु प्रयासरत और कटिबध्द हैं ! बहुत अच्छी रचना ! बहुत बहुत बधाई !

amitshashwat के द्वारा
April 13, 2016

aadarniy sadguruji , hindustan ko vaishvik uchaiyon par le ja rahe maanniy sri narendr modi ji ki etihasik karyshaili ttha vicharon ke sadarbhit vivechna aapo achhi lagi , yah aapki sahjta hai evn mere pryaas hetu atyant utsahprad hai . ssamman dhanyvaad v abhivadan sahit .


topic of the week



latest from jagran